सोना कारोबारियों से 20 किलो गोल्ड, 1.5 करोड़ कैश लेकर कारीगर हुआ फरार

Artisan absconds with 20 kg gold, Rs 1.5 crore cash from gold traders

कानपुर/उत्तर प्रदेश। कानपुर से एक चौंकाने वाला मामला प्रकाश में आया है। कानपुर के बेकनगंज सर्राफा बाजार में सोना गलाने वाला कारीगर अलग-अलग सर्राफा व्याारियों का लगभग 15 से 20 किलो सोना और 1.5 करोड़ रुपए कैश लेकर भाग गया। व्यापारी लगातार उसे फोन कर रहे थे। लेकिन उसका फोन स्वीच आफ जा रहा था। जब व्यापारियों ने जाकर देखा तो उसका सोना गलाने वाला कारखाना बंद था। व्यापारियों का अहसास हुआ कि उनके साथ करोड़ों की ठगी हो गई। सर्राफा व्यापारियों ने बाजार में जमकर हंगामा किया। इसके बाद जेसीपी अपराध शाखा के ऑफिस पहुंचकर घटना की जानकारी दी।
बेकनगंज सर्राफा बाजार में मूलरूप से महाराष्ट्र के रहने वाले संपत राव लावटे ने पत्नी संध्या लावटे साले महेश मस्करे के साथ सोना गलाने का काम करता था। उसने अपनी फर्म भी रजिस्टर्ड करा रखी थी। संपत राव अपने कारखाने में गोल्ड टेस्टिंग, गोल्ड गलाने और सोने चांदी के जेवरात बेचने का काम करता था। जानकारी के मुताबिक संपत राव 20 साल पहले कानपुर में आकर व्यापारियों के बीच विश्ववास बनाया था। उसी विश्वास का फायदा उठाकर उसने व्यापारियों से सोना इकठ्ठा किया और कई व्यापारियों से कैश रकम ली। इसके बाद 15 से 20 किलो सोना और 1.5 करोड कैश लेकर फरार हो गया।
करोड़ों का गोल्ड और कैश लेकर हुए फरार
कानपुर महानगर सर्राफा एसोसिएशन के अध्यक्ष पंकज अरोरा ने बताया कि बेकनगंज सर्राफा बाजार के 8 से 10 व्यापारियों के साथ फ्रॉड हुआ है। बेकनगंज सर्राफा बाजार का एक व्यापारी संपत राव लावटे जो मूलरूप से महाराष्ट्र का रहने वाला था। संपत सोना गलाने का काम पत्नी संध्या और साले महेश के साथ करता था, इसके साथ ही जेवर बेचने का भी काम करता था। व्यापारियों से लगभग 15 से 20 किलो सोना इकठ्ठा किया और कुछ व्यापारियों को विश्वास में लेकर लगभग 1.5 करोड़ कैश लेकर भाग गया।
आरोपियों की तस्वीरें एयरपोर्ट, रेलवे स्टेशन भेजी गईं
उन्होंने बताया कि एक व्यापारी की एफआईआर रजिस्टर हो गई है। हम सभी व्यापारियों ने जेसीपी क्राइम से मिलकर अपनी बात रखी है। उन्होंने पुलिस की कई टीमों का गठन किया है। जिसमें पुलिस की टीमें एयरपोर्ट, रेलवे स्टेशन, बस स्टैंड पर तस्वीरों को भेजने का काम किया है। संपत राव का पहले से भागने का प्लान था। उसने अलग-अलग सर्राफा व्यापारियों से सोने के जेवर इकठ्ठा किए। इसी तहर से उसने कई व्यापारियों से कैश भी जमा किया। इसके बाद लगभग 20 किलोग्राम सोना और 1.5 नकदी लेकर भाग गया।
रिवकरी के लिए टीम का गठन
जेसीपी अपराधा शाखा निलाब्जा चौधरी ने बताया कि सर्राफा एसोसिएशन के वरिष्ठ दाधिकारियों ने मुलाकात की है। उन्होंने बताया कि दो व्यारियों संपत राव लावटे, महेश मस्करे सोना गलाने का काम करते थे। इन्होंने कई व्यापारियों से भारी मात्रा में सोना लेकर गायब हो गए हैं। पीड़ित व्यापारियों की तहरीर पर थाना बजरिया में मुकदमा दर्ज कराया गया है। इस मामले में रिकवरी के लिए एसआईटी की टीम को लगाया गया है। अलग-अलग व्यापारियों ने सोने की मात्रा और कीमत को पुलिस के पास नोट कराया है।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

शयद आपको भी ये अच्छा लगे
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा।