जोगीधारा के पास राष्ट्रीय राजमार्ग दूसरे दिन भी बंद, सड़कों पर सो रहे सैकड़ो यात्री

National Highway near Jogidhara closed for the second day, hundreds of passengers sleeping on the roads

जोशीमठ/उत्तराखंड। जोगीधारा के पास राष्ट्रीय राजमार्ग दूसरे दिन भी बंद रहा। यहां पहाड़ी से मलबा और पत्थर गिरने के कारण सड़क बंद हो गई है। मंगलवार सुबह लगभग 7 बजे पहाड़ी से मलबा और बोल्डर आने के कारण सड़क बंद हो गई थी। इसके बाद से सड़क के दोनों तरफ वाहनों की लंबी लंबी कतार लगी हुई हैं। सड़क बंद होने की वजह से जोशीमठ में सैकड़ों यात्री रुके हुए हैं। सड़क पर आई चट्टान हटाने की कार्रवाई निरंतर जारी है पर फ़िलहाल सड़क खुलने की कोई उम्मीद नहीं जताई जा रही है। सड़क बंद होने के बाद से निरंतर दो बार ब्लास्टिंग की जा चुकी है पर गिरी हुई चट्टान पर ब्लास्टिंग का कोई खास असर नहीं हो रहा है।
40 का पानी पीया 300 की खाई दाल सड़क पर रहे
सड़क बंद होने के कारण जोशीमठ में रुके तीर्थ यात्रियों पर मंहगाई की मार पड़ रही है। इंदौर से आए एक यात्री बताते हैं कि उन्होंने पूरी रात अपने परिवार से साथ सड़क पर बिता दी वो कमरा लेने के लिए एक होटल में गए तो एक कमरे का रेट चार हजार सुन कर उन्होंने कमरा नहीं लिया और सड़क पर ही रहे। उन्होंने कहा कि जोशीमठ मे आपदा मे अवसर का काम हो रहा है। यहां पानी की एक बोतल 40 और एक प्लेट दाल 300 रुपय की मिल रही है। कहा कि यहां रुकने के कारण उन की ट्रेन छूट गई है।
एनटीपीसी ने खिलाया खाना
सड़क बंद होने के बाद से एनटीपीसी के लोग यात्रीयो के बीच खाना एवं पानी इत्यादि वितरित कर रहे हैं। जोशीमठ में रुके यात्रियों को भोजन के साथ साथ मेडिकल कैम्प भी लगाया गया है। पूरे दिन भर मे लगभग 1500 लोगों को भोजन करवाया गया।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

शयद आपको भी ये अच्छा लगे
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा।