गाजियाबाद में यूपी पुलिस के रिटायर्ड दारोगा की गोली लगने से मौत, हादसा या आत्महत्या,पुलिस जांच में जुटी

Retired UP police sub-inspector died after being shot in Ghaziabad, accident or suicide, police investigating

गाजियाबाद। यूपी केगाजियाबाद के थाना सिहानी गेट इलाके के नेहरू नगर में अचानक अफरा तफरी का माहौल मच गया। लोगों ने एक मकान में गोली चलने की आवाज सुनी। जैसे ही लोग मौके पर दौड़े तो पता चला कि संदिग्ध परिस्थितियों में रिटायर्ड इंस्पेक्टर को बंदूक साफ करते समय गोली लग गई, उनकी मौके पर ही मौत हो गई। इसकी सूचना पुलिस को उनके बेटे ने दी, जिसके बाद पूरे मामले की जांच में जुटी हुई है।
जानकारी के अनुसार 2006 में उत्तर प्रदेश पुलिस से रिटायर्ड हुए करीब 78 वर्षीय रामेश्वर दयाल गौर अपनी पत्नी, बेटे और पुत्रवधू के साथ नेहरू नगर में रहते थे। चुनाव के वक्त उन्होंने अपनी दोनाली बंदूक निजी बंदूक की दुकान पर जमा की थी। वह अपनी बंदूक दुकान से वापस घर ले आए और उसकी सफाई कर रहे थे। इसी दौरान उन्हें संदिग्ध परिस्थिति में गोली लग गईं और उनकी मौके पर ही मौत हो गई। गोली की आवाज सुनते ही घर के अन्य सदस्य अपने कमरे से बाहर निकले तो उन्होंने देखा कि रामेश्वर दयाल गौर लहूलुहान मृत अवस्था में पड़े हुए थे।
पुलिस की शुरुआती जांच में पता चला कि आत्महत्या की गईं है
एसीपी रवि कुमार सिंह ने बताया कि बेटे भारत भूषण घटना की जानकारी हुई। अचानक ही संदिग्ध परिस्थिति में गोली लगी और उनकी मौत हो गई। सूचना पर मौके पर पुलिस पहुंची तो उनका शव लहूलुहान हालत में जमीन पर पड़ा हुआ था। पुलिस ने उनके शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। एसीपी ने बताया, पुलिस की प्रथम जांच में पता चला है कि साफ करते वक्त गोली नहीं चली, बल्कि उन्होंने आत्महत्या की है। उन्होंने कहा कि सफाई करते वक्त कोई भी शख्स बंदूक को लोड नहीं रखता और गोली उनकी गर्दन से ऊपर ठुड्डी पर लगी थी। इससे साफ प्रतीत होता है कि उन्होंने आत्महत्या की है। फिलहाल मामले की गहन जांच की जा रही है।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

शयद आपको भी ये अच्छा लगे
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा।