जो बाइडेन के बीमारी का इलाज चलने की खबर को लेकर पत्रकारों के सवाल पर भड़की प्रेस सचिव

Press secretary got angry when reporters asked about the news of Joe Biden's treatment for his illness

अंतर्राष्ट्रीय डेस्क। अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन के पार्किंसंस नामक बीमारी का इलाज चलने की खबर ने खासी सुर्खियां बटोरी। अमेरिकी राष्ट्रपति को लेकर आई इस तरह की खबर वो भी ऐसे वक्त में जबकि अमेरिका में इस साल ही नए प्रेसिडेंट को लेकर चुनाव होने हैं। दरअसल, न्यूयॉर्क टाइम्स ने अपनी रिपोर्ट में दावा किया कि पिछले साल अगस्त से इस साल के मार्च के महीने के बीच पार्किंसंस स्पेशलिस्ट ने कम से कम आठ बार व्हाइट हाउस का दौरा किया है। विजिटर्स लॉग के हवाले से न्यूयॉर्क टाइम्स ने अपनी रिपोर्ट प्रकाशित की है। ये खबर सामने आने के बाद तमाम तरह की अटकलों का दौर शुरू हो गया। व्हाइट हाउस के कर्मचारियों की पार्किंसन के एक विशेषज्ञ के दौरे को लेकर पत्रकारों से बहस हो गई। पत्रकार यह जानना चाहते थे कि क्या राष्ट्रपति जो बाइडन को पार्किंसन विशेषज्ञ ने देखा था।
जो बाइडेन के चिकित्सक डॉ. केविन ओ’कॉनर ने बताया है कि क्यों एक पार्किंसंस विशेषज्ञ ने केवल आठ महीने की अवधि में कम से कम आठ बार व्हाइट हाउस का दौरा किया। ओ’कॉनर का कहना है कि विशेषज्ञ डॉ. केविन कैनार्ड, न्यूरोलॉजिकल विशेषज्ञ थे जिन्होंने राष्ट्रपति बाइडेन की प्रत्येक वार्षिक शारीरिक जांच की थी। 8 जुलाई को देर रात जारी ओ’कॉनर का पत्र पुष्टि करता है कि कैनार्ड का व्हाइट हाउस में बार-बार आना बाइडेन की जांच से संबंधित नहीं है क्योंकि डॉक्टर अन्य लोगों की देखभाल के लिए भी जिम्मेदार है।
व्हाइट हाउस की प्रेस सचिव कैरिन ज्यां-पियरे ने संवाददाताओं के सवालों पर कहा, इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि आप मुझ पर कितना दबाव डालते हैं, इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि आप मुझ पर कितना गुस्सा करते हैं। मैं किसी नाम की पुष्टि नहीं करने जा रही हूं। इससे कोई फर्क नहीं पड़ता यह रिकॉर्ड में है या नहीं। मैं यहां से ऐसा नहीं करने जा रही हूं। मैं आपके साथ जो साझा कर सकती हूं वह यह है कि राष्ट्रपति ने अपनी शारीरिक जांच के लिए तीन बार न्यूरोलॉजिस्ट से मुलाकात की है।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

शयद आपको भी ये अच्छा लगे
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा।