गोरखपुर में फर्जी दरोगा बन महिला करती थी वसूली, पुलिस ने गिरफ्तार कर भेजा जेल

In Gorakhpur, a woman used to extort money by posing as a fake police inspector, police arrested her and sent her to jail

गोरखपुर/उत्तर प्रदेश। गोरखपुर में महिला द्वारा पुलिस की वर्दी पहन वसूली का एक हैरतअंगेज मामला सामने आया है। गौरतलब है कि बिहार की रहने वाली एक महिला पिछले कई महीनों से बेधड़क होकर वसूली करती थी। नागरिकों की निशानदेही पर जब पुलिस ने पकड़ा तो उसने कई राज उगले। महिला का कहना है की पुलिस को देख लोग आसानी से पैसे दे देते हैं। इसीलिए मैंने भी वर्दी धारण कर वसूली के बारे में सोचा।
गोरखपुर के गुलहरिया थाना क्षेत्र अंतर्गत महाराजगंज चौराहे के आस पास पिछले कई दिनों से पुलिस की वर्दी पहन एक महिला आने जाने वाले लोगों और वाहनों से वसूली करती थी लोग महिला दरोगा समझ कर ज्यादा ध्यान नहीं देते थे। महिला ज्यादातर शहर के चौराहों को छोड़कर छोटे-मोटे चौराहे और ग्रामीण क्षेत्र में अपना शिकर ढूंढती थी।
गलती से सोमवार को सरहरी चौकी के पास स्थित महाराजगंज चौराहे पर पहुंच गई। कुछ लोगों ने इसकी शिकायत सरहरी चौकी पर की तो चौकी इंचार्ज अपने साथियों के साथ महाराजगंज चौराहे पहुंचे। महिला उन्हें देखकर वहां से खिसकने लगी। चौकी इंचार्ज ने उसे रोका और पूछताछ करते हुए उसका आई कार्ड और तैनाती के बारे में पूछा तो महिला साफ जवाब नहीं दे पाई।
सख्ती से पूछताछ में पता चला कि महिला बिहार की रहने वाली है और कुशीनगर में उसका मायका है। महिला ने अपना नाम रेखा तिवारी बताया। पुलिस की वर्दी उसे कहां से मिली इसकी इस बारे में भी कुछ नहीं बता पाई। उसके खिलाफ विभिन्न धाराओं में मुकदमा पंजीकृत कर जेल भेज दिया गया है।
पुलिस का कहना है कि महिला वर्दी में आसपास के कई चौराहों पर जहां से ज्यादातर ग्रामीण क्षेत्र के लोग गुजरते थे। वैसी जगह पर ही लोगों से वसूली करती थी। उसका कहना है कि पुलिस वालों को लोग आसानी से पैसे दे देते थे। यही सोचकर मैंने भी पुलिस की वर्दी धारण कर वसूली शुरू कर दी।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

शयद आपको भी ये अच्छा लगे
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा।